Breaking News
आज शाम थम जाएगा चुनाव प्रचार, एक जून को होगा सातवें चरण के लिए मतदान
किन लोगों को हीट वेव का है सबसे ज्यादा खतरा, लू से कैसे बचाए खुद की जान 
जिलाधिकारी की अध्यक्षता में आयोजित की गई सड़क सुरक्षा समिति की बैठक 
अपने काम की बदौलत दुनिया की प्रभावशाली हस्तियों में शामिल हैं मोदी- महाराज
वैश्विक ऊंचाई पर भारतीय खिलौना कारोबार
शिक्षकों को सम्पूर्ण सेवा काल में एक बार मिलेगा संवर्ग परिवर्तन का मौका
पाकिस्तान के पूर्व मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने इण्डिया गठबंधन को दी शुभकामनाएं, कहा- सब चाहते है पीएम मोदी हारें…
उपराष्ट्रपति के उत्तराखण्ड दौरे की तैयारी को दिया फाइनल टच
सीएम धामी ने स्वर्ण मंदिर में मत्था टेका

हरिद्वार कॉरिडोर को लेकर जनता का अहित नहीं होने दिया जाएगा -त्रिवेंद्र सिंह रावत

पूर्व सीएम ने प्रेस क्लब हरिद्वार के संवाद कार्यक्रम में किया प्रतिभाग 

हरिद्वार। लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी और पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि हरिद्वार में बनने वाले कॉरिडोर को लेकर किसी तरह की आशंका नहीं है और ना ही इस कॉरिडोर से जनता को कोई नुकसान होने वाला है। कॉरिडोर को लेकर जनता किसी भी तरह की कोई आशंका ना रखें। जनता का अहित नहीं होने दिया जाएगा। रावत प्रेस क्लब हरिद्वार में आयोजित संवाद कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि सांसद बनने के बाद वे हरिद्वार जिले के खानपुर क्षेत्र में नया सिडकुल विकसित करवाएंगे। रावत ने कृषि मंत्री और मुख्यमंत्री पद पर रहने के दौरान लागू की गयी विकास योजनाओं और उपलब्धियों से अवगत कराते हुए भविष्य की योजनाओं पर भी प्रकाश डाला। त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि कृषि मंत्री और मुख्यमंत्री रहने के दौरान उन्होंने प्रदेश के विकास और जनसुविधाओं के लिए कई कदम उठाए।

उन्होंने बताया कि कृषि मंत्री कार्यकाल में पहाड़ी गायों की दूध देने की क्षमता को बढ़ाने के लिए के राज्यके पार्वतीय जिले चंपावत में फार्म हाउसा में एक केंद्र स्थापित किया गया था और बदरी गाय के रूप में पहाड़ी गाय का पेंटेंट कराया। इस गाय की क्षमता बढ़ने के बाद के यह पर्वतीय गाएं प्रतिदिन 4 से 5 लीटर दूध दे रही है। जिससे गाय पालन करने वालों की आर्थिक स्थिति में सुधार हुआ है। किसानों की सुविधा के लिए कृषि विभाग के ढांचे को न्याय पंचायत स्तर तक पहुंचाया।

रावत ने कहा कि चार साल मुख्यमंत्री पद पर रहने के दौरान प्रदेश के लोगों की बेहतरी के लिए कई कदम उठाए गए। जिसमें स्वास्थ्य क्षेत्र अटल आयुष्मान योजना, हरिद्वार में मेडिकल कालेज की स्थापना, जच्चा बच्चा सुपर स्पेशसलिटी हाॅस्पिटल, भूपतवाला में तीस बेड का अस्पताल, रानीपोखरी में विधि विश्वविद्यालय की स्थापना, देहरादून में साइंस सिटी का निर्माण, हरिद्वार और लालढांग में डिग्री कालेज का निर्माण करने के साथ निजी क्षेत्र के साथ मिलकर स्कूली शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कदम उठाए गए।

रावत ने बताया कि मुख्यमंत्री रहने के दौरान उन्होंने अनाथालयों में पलने वाले बच्चों के लिए चार प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान भी किया है। महिलाओं को पैतृक संपत्ति में अधिकार दिया। हरिद्वार में आश्रम अखाड़ों पर लगाए जा रहे व्यवसायिक कर को समाप्त कर उन्हें गृहकर के अंतर्गत लगाए। उन्होंने बताया कि नगर निगम का विस्तार कर उसमें शामिल किए गए क्षेत्रों को दस साल तक गृहकर में छूट का प्रावधान किया गया। हरिद्वार में अंडरग्राउंड बिजली और रसोई गैस पाईपलाइन योजना लागू की गयी। शहर को जाम से बचाने के लिए रिंग रोड़ का निर्माण चल रहा है। कई फ्लाईओवर बनाए गए हैं। हाकी खिलाड़ी वदना कटारिया के नाम पर स्टेडियम का निर्माण किया गया। प्रदेश में धार्मिक और साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए उठाए गए कदमों के फलस्वरूप प्रदेश में पर्यटन बढ़ा है।

उन्होंने कहा कि बाढ़ की समस्या से निपटने के लिए केंद्र सरकार के सहयोग से प्रोजेक्ट लगाया जाएगा। खानपुर क्षेत्र में सिडकुल की स्थापना की जाएगी। हरिद्वार जिले में जनसंख्याकी बदलाव को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने समान नागरिक संहिता विधेयक लाकर इस संबंध में बड़ी पहल की है। बड़ी तादाद में जमीनों को भी मुक्त कराया गया है। उन्होंने कहा कि जनसंख्याकी बदलाव को रोकने के लिए सामाजिक चेतना जरूरी है। प्रेस क्लब के अध्यक्ष अमित शर्मा ने मुख्य अतिथि त्रिवेंद्र सिंह रावत को पुष्प गुच्छ भेंट किया‌ और कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ पत्रकार प्रेस क्लब के पूर्व अध्यक्ष डॉक्टर रजनीकांत शुक्ला ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top