Breaking News
पर्यावरण संरक्षण आज के समय की बड़ी जरुरत
मुख्य सचिव ने केदारनाथ धाम के कार्यों का लिया जायजा
जोमैटो से खाना मंगाना हुआ महंगा, जानिए कितना प्रतिशत बढ़ा चार्ज
लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने एक और लिस्ट की जारी, जानें- किसे कहां से दिया टिकट
आईपीएल 2024 के 38वें मैच में आज राजस्थान रॉयल्स से भिड़ेगी मुंबई इंडियंस
चारधाम यात्रा – सात दिन में 12.48 लाख पहुंची पंजीकरण की संख्या
पीरियड्स से पहले और बाद में क्यों होते हैं फेस पर पिंपल्स? क्या है इसकी वजह
देश के इन 12 राज्यों में पड़ रही भीषण गर्मी, आगामी 4 दिनों तक हीटवेव का अलर्ट जारी
मिस्टर एंड मिसेज माही का पहला पोस्टर आया सामने, भारतीय जर्सी में दिखे राजकुमार राव और जान्हवी कपूर

चारधाम यात्रा की तैयारियों में जुटा स्वास्थ्य महकमा

बदरीनाथ-केदारनाथ में मिलेगी बेहतर स्वास्थ्य सुविधा

उत्तराखण्ड के कई अस्पताल होंगे उच्चीकृत

देहरादून। चारधाम यात्रा के दौरान इस बार तीर्थयात्रियों को बदरीनाथ-केदारनाथ के अस्पतालों में बेहतर सुविधाएं मिलेंगी। कैबिनेट ने दोनों अस्पतालों में उपकरण खरीद के लिए शॉर्ट टर्म टेंडर की मंजूरी दे दी है। सचिव स्वास्थ्य डॉ. आर राजेश कुमार ने बताया कि बदरीनाथ अस्पताल के लिए साढ़े छह करोड़ जबकि केदारनाथ अस्पताल के लिए चार करोड़ रुपये से एक्सरे, अल्ट्रासाउंड, ईसीजी मशीनों के साथ कई और उपकरण खरीदे जाने हैं। इससे यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं को परेशानी होने पर जांच की सुविधा मिल पाएगी। साथ ही हायर सेंटर रेफर होने से पहले ही इलाज शुरू हो पाएगा। डॉ. कुमार ने बताया कि शॉर्ट टर्म टेंडर के तहत उपकरण खरीद को सात दिन में कंपनियां आमंत्रित की जाती हैं जब कि सामान्य टेंडर में वक्त लगता है।

उत्तराखण्ड के कई अस्पताल होंगे उच्चीकृत

सरकार ने पुरोला, मोरी, सितारगंज, झबरेड़ा और दुगड्डा के साथ राज्य के कई अस्पतालों को उच्चीकृत करने का फैसला लिया है। इस संदर्भ में स्वास्थ्य विभाग की ओर से आदेश भी कर दिए गए हैं।

राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में लंबे समय से अस्पतालों के उच्चीकरण की मांग चूल रही थी। इसको देखते हुए सरकार ने करीब एक दर्जन अस्पतालों को उच्चीकृत कर दिया है। सचिव स्वास्थ्य डॉ. आर राजेश कुमार ने बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पुरोला को उपजिला अस्पताल के रूप में उच्चीकृत किया गया है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मोरी को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के रूप में उच्चीकृत किया गया है। इसी तरह प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र झबरेड़ा को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, पौड़ी के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दुगड्डा को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सितारगंज को उपजिला अस्पताल के रूप में उच्चीकृत किया गया है। सरकार के इस आदेश के बाद अब इन अस्पतालों में डॉक्टरों की तैनाती के साथ ही अन्य सुविधाओं के विकास पर भी फोकस किया जा रहा है। इससे पहले उत्तराखंड सरकार ने थलीसैंण, ऊखीमठ और बड़कोट के अस्पताल के भी उच्चीकरण का फैसला लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top