Breaking News
महाराज ने दिये महाभारत ट्रेल को विकसित करने के निर्देश
सीमान्त मुनस्यारी पिथौरागढ़ व चम्पावत के लिए उड़ान भरेंगे हेलीकॉप्टर
चारधाम यात्रा की तैयारियों में जुटा स्वास्थ्य महकमा
हेमकुंट साहिब की यात्रा 25 मई से होगी शुरू
रोज एप्पल जूस पिएंगे तो क्या होगा, सेब का जूस पीते वक्त बरतें ये सावधानियां
बद्रीनाथ धाम ने ओढ़ी बर्फ की सफेद चादर, रुक-रुककर बर्फबारी का दौर जारी
विवाह बंधन में बंधे रकुल प्रीत सिंह और जैकी भगनानी, सिख रीति रिवाजों से हुआ आनंद कारज
मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम क्रियान्वयन विभाग की ‘‘मेरी योजना’’ पुस्तक का किया विमोचन
सभी बाधाएं दूर, शीघ्र शुरू होगा जमरानी बांध का निर्माण- महाराज

पहाड़ी इलाकों में गुलदार का आतंक- 24 घंटे में दो मासूमों को बनाया निवाला 

पूरे इलाके में दहशत का माहौल

मांग- गुलदार को आदमखोर घोषित कर मारने के आदेश जारी करे विभाग

श्रीनगर। इन दिनों उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में गुलदार की “गश्त” कुछ ज्यादा ही देखने को मिल रही है, न केवल गुलदार अपनी “गश्त” कर रहा है, बल्कि छोटे- छोटे मासूमों को अपना निवाला भी बना रहा है। इससे पूरे इलाके में दहशत का माहौल बना हुआ है। लोगों का सरकार व प्रशासन के खिलाफ जमकर गुस्सा भी फूट रहा है, साथ ही गुलदार को आदमखोर घोषित कर मारने के आदेश जारी करने की मांग भी की जा रही है। आपको बता दें कि उत्तराखंड में श्रीनगर के ग्लास हाउस रोड पर गुलदार ने एक चार साल के बच्चे को अपना निवाला बना लिया। दरअसल श्रीनगर निवासी सलामुद्दीन का छोटा बेटा अयान अंसारी (4) रविवार रात करीब नौ बजे घर के आंगन में खेल रहा था, तभी एक गुलदार वहां पहुंचा, और अयान पर झपट पड़ा। इस दौरान परिजन भी मौके पर मौजूद थे, लेकिन इससे पहले परिजन कुछ समझ पाते गुलदार अयान को उठाकर ले गया। परिजन और अन्य लोग उसके पीछे दौड़े, लेकिन तब तक गुलदार गायब हो चुका था। घर से करीब 20 मीटर दूर अयान का खून से लथपथ शव मिला।

वहीं पौड़ी जिले के खिर्सू ब्लॉक के ग्वाड़ गांव में भी गुलदार ने एक 11 वर्षीय मासूम को अपना शिकार बनाया है। 11 साल का अंकित अपने तीन अन्य दोस्तों के साथ घर के समीप आंगन में कंचे खेल रहा था, तभी एक कंचा खेलते- खेलते दूर गिर गया, जिसकी तलाश में अंकित आगे निकला, और तभी घात लगाकर बैठे गुलदार ने अंकित पर हमला कर दिया, और उसे बुरी तरह घायल कर दिया। आनन- फानन में अंकित को अस्पताल श्रीकोट ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने अंकित को मृत घोषित कर दिया। परिजनों का रो- रोकर हाल बुरा चल रहा है। इन दिनों घात लगाए बैठे गुलदार के हमलों से लोगों में दहशत भरी हुई है, और सब की जुबां पर बस एक ही सवाल है कि आखिर कब तक गांवों में रहने वाले परिवार इस तरह जंगली जानवरों का निवाला बनते रहेंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top