Breaking News
तापसी पन्नू स्टारर ‘फिर आई हसीन दिलरुबा’ की रिलीज डेट आई सामने, दिखेगा  प्यार, धोखा और अपराध की दिल दहलाने वाली कहानी
अजबपुर फ्लाईओवर पर हुआ दर्दनाक हादसा, दो महिला पुलिसकर्मियों को बस ने मारी टक्कर 
विदेश मंत्रालय ने कहा- 50 नागरिकों ने किया संपर्क, जल्द होगी रूसी सेना में शामिल भारतीयों की रिहाई
राम मंदिर के पुजारियों के लिए ड्रेस कोड लागू, अब इन कपड़ो में आयेंगे नजर 
मौसम सुहाना होने के साथ ही बढ़ा बीमारियों का खतरा, इन उपायों से रखे खुद को सुरक्षित 
कांवड़ यात्रा मार्ग के सभी भोजनालयों पर मालिक के नामोल्लेख पर कांग्रेस बिफरी
उत्तराखण्ड में अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे स्वास्थ्य सेवाओं और योजनाओं का लाभ- सुरेश भट्ट
चुनाव में हार-जीत से आंदोलन समाप्त नहीं हुआ
ठोस रणनीति बनाकर मानव-वन्यजीव संघर्ष कम करें- सीएम

13 वर्षीय लड़के ने भेजा दिल्ली एयरपोर्ट पर बम वाला ईमेल, मचा हड़कंप

नई दिल्ली: पुलिस ने रविवार को बताया कि 13 वर्षीय एक लड़के को दिल्ली एयरपोर्ट पर कथित तौर पर एक ईमेल भेजने के आरोप में पकड़ा गया है, जिसमें उसने झूठा दावा किया था कि दुबई जाने वाली फ्लाइट में बम रखा गया है। पुलिस उपायुक्त (आईजीआई एयरपोर्ट) उषा रंगनानी ने बताया कि लड़के ने कुछ दिन पहले एक अन्य किशोर द्वारा बम की धमकी देने की झूठी खबर से प्रभावित होकर “जोक के लिए” यह मेल भेजा था।

डीसीपी ने बताया कि यह घटना सोमवार को हुई, जब 18 जून को दुबई जाने वाली फ्लाइट में बम की धमकी के बारे में शिकायत दर्ज की गई थी। शिकायत के आधार पर एक प्राथमिकी दर्ज की गई और जांच शुरू की गई। डीसीपी ने बताया कि यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सभी दिशा-निर्देशों, प्रोटोकॉल और एसओपी का पालन किया गया।

उन्होंने कहा, “एयरपोर्ट को हाई अलर्ट पर रखा गया और आपातकाल घोषित कर दिया गया।” हालांकि, जांच के दौरान ईमेल फर्जी पाया गया, उन्होंने कहा। रंगनानी ने कहा, “जांच के दौरान, यह पता चला कि ईमेल भेजने के तुरंत बाद ईमेल आईडी को हटा दिया गया था। ईमेल को उत्तरांचल के पिथौरागढ़ में ट्रेस किया गया।”

उन्होंने कहा कि एक टीम भेजी गई और फर्जी ईमेल भेजने के आरोप में लड़के को पकड़ लिया गया। उन्होंने कहा, “लड़के ने पुलिस टीम को बताया कि उसके माता-पिता ने उसे पढ़ाई के लिए एक मोबाइल दिया था, जिसके जरिए उसने ईमेल भेजा और बाद में अपनी आईडी हटा दी। उसने अपने माता-पिता के साथ कोई जानकारी साझा नहीं की क्योंकि वह डर गया था। उसे पकड़ लिया गया और उसके माता-पिता को सौंप दिया गया।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top