Breaking News
तापसी पन्नू स्टारर ‘फिर आई हसीन दिलरुबा’ की रिलीज डेट आई सामने, दिखेगा  प्यार, धोखा और अपराध की दिल दहलाने वाली कहानी
अजबपुर फ्लाईओवर पर हुआ दर्दनाक हादसा, दो महिला पुलिसकर्मियों को बस ने मारी टक्कर 
विदेश मंत्रालय ने कहा- 50 नागरिकों ने किया संपर्क, जल्द होगी रूसी सेना में शामिल भारतीयों की रिहाई
राम मंदिर के पुजारियों के लिए ड्रेस कोड लागू, अब इन कपड़ो में आयेंगे नजर 
मौसम सुहाना होने के साथ ही बढ़ा बीमारियों का खतरा, इन उपायों से रखे खुद को सुरक्षित 
कांवड़ यात्रा मार्ग के सभी भोजनालयों पर मालिक के नामोल्लेख पर कांग्रेस बिफरी
उत्तराखण्ड में अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे स्वास्थ्य सेवाओं और योजनाओं का लाभ- सुरेश भट्ट
चुनाव में हार-जीत से आंदोलन समाप्त नहीं हुआ
ठोस रणनीति बनाकर मानव-वन्यजीव संघर्ष कम करें- सीएम

राजकुमार राव की अपकमिंग फिल्म ‘श्रीकांत’ का पहला लुक आया सामने

राजकुमार राव की अपकमिंग फिल्म श्रीकांत का पहला लुक सामने आ गया है। दिव्यांग बिजनेसमैन श्रीकांत बोला की बायोपिक में राजकुमार मुख्य भूमिका निभाते हुए नजर आ रहे हैं। फिल्म 10 मई को सिनेमाघरों में दर्शकों के सामने होगी। इस फिल्म में राजकुमार राव के अलावा ज्योतिका, अलाया एफ और शरद केलकर जैसे एक्टर्स भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए नजर आएंगे। फिल्म के पहले ही लुक में राजकुमार राव ने फैन्स को इंप्रेस कर दिया है।

फिल्म के फर्स्ट लुक में राजकुमार राव एक सडक़ पर भागते हुए नजर आ रहे हैं और फिनिशिंग लाइन पर रिब्बन को छूकर आगे निकल जाते हैं, जिसके बाद स्क्रीन पर फिल्म श्रीकांत की रिलीज की तारीख लिखी हुई आती है. राजकुमार राव ने फिल्म के फर्स्ट लुक का वीडियो अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम हैंडल से शेयर किया है। यह फिल्म दिव्यांग बिजनेसमैन श्रीकांत बोला की बायोपिक है।

श्रीकांत के पहले लुक को फैन्स के साथ साझा करते हुए राजकुमार राव ने कैप्शन में लिखा है, एक जर्नी जो आपको अपनी आंखें खोलने के लिए प्रेरित करेगी! आप सबका नजरिया बदलने आ रहा है श्रीकांत। सिनेमाघरों में आ रही 10 मई 2024. इस फिल्म में अभिनय कर रही एक्ट्रेस अलाया एफ ने भी इसी कैप्शन के साथ वीडियो को इंस्टाग्राम पर शेयर किया है।

श्रीकांत बोला एक भारतीय बिजनेसमैन और बोलैंट इंडस्ट्रीज के फाउंडर हैं। यह संगठन दिव्यांग व्यक्तियों को रोजगार देता है, जो इको फ्रेंडली प्रोडक्ट बनाता है. 1992 में भारत के हैदराबाद के पास एक छोटे से गांव में जन्मे दृष्टिबाधित श्रीकांत का जीवन एक प्रेरणादायक सफर रहा है. ऐसे समाज में जहां किसी भी शारीरिक कमी को अक्सर एक अभिशाप के रूप में देखा जाता था, किसानों के परिवार में पैदा होने के बावजूद श्रीकांत ने अपनी कमजोरी को खुद पर कभी हावी नहीं होने दिया।

मुख्यधारा के एजुकेशन सिस्टम में मिले भेदभाव और बहिष्कार का सामना करते हुए उन्होंने शिक्षा के अपने अधिकार के लिए लड़ाई लड़ी और अंतत: संयुक्त राज्य अमेरिका में प्रतिष्ठित मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में अध्ययन करने वाले पहले इंटरनेशनल दृष्टिबाधित छात्र बन गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top